top of page

Mahadev


gsp9599


महादेव


बम बम भोले का नारा गुंजेगा ब्रम्हांड ये सारा शिव का नाम बोलेगा

काल पर जिन्होने विजय पायी है उस महाकाल का जयकार होवेगा

जटाओ में गंगा गले में सर्पमाला है डमरू संग साथ मेरे शिव बाबा है

भैरव,शिव और अघोर जो उनके नाम है रूप अनेको मेरे महादेवके है

त्रिनेत्र है जिनके रौद्र अवतार है आंखो में बसा भक्तो के लिये प्यार है

तांडव हुआ तो होता विनाश है अग्नी ज्वाला से करते शत्रू का नाश है

भस्म का शृंगार और डमरू बजाते है अनोखे ढंगसे खुदको सवारते है

भूत-पिच्छाश संग इनका रेहवास है ना जाने रुद्र का कैसा अवतार है

हलाहल करते विष का पान किया है मानव जाती का रक्षण किया है

नमन है मेरा देवो के देव महादेव को जिन्होने भक्तोका उद्धार किया है


Ganesh Patil

3 views0 comments

Recent Posts

See All

Ek sadak durghatna jo meine dekhi

एक सड़क दुर्घटना _ जो मैंने देखी कैसे करूं बयां जो मुझसे देखा भी नहीं जाता, एक ऐसा दृश्य जिसे देखकर हर कोई कांप जाता। वो कहते हैं ना दुर्घटना से देर भली, पर ये इंसान को कहां समझ में आता । जल्दी-जल्दी

Comments


bottom of page