top of page

Secret Admirer

गुप्त प्रशंसक


चुपचाप रहते हो फिर भी सब जानते हो,

नजरे मिलाते नहीं फिर भी आंखें पढ़ लेते हो ।

बातें करते नहीं पर दिल का हाल जान लेते हो,

क्या जादू है तुम्हारे पास जो सब कुछ जान लेते हो?


बगैर किसी को पता चले गुप्त दान करते हो,

जरूरतमंदों को बिना मांगे धन की सहायता करते हो ।

बीमार हुए रोगी की सेवा करते हो,

निराधार को अपने सहारे से आश्वस्त करते हो ।


कितने गुण है तुममें जिनसे थी मैं अनजान,

जानती हूं कभी भी तुम नहीं स्वीकारते सम्मान ।

इसीलिए तो इतनी दीवानी हूं मैं तुम्हारी,

मन ही मन गुप्त प्रशंसक बन गई हूं तुम्हारी...!


बीना शाह

Instagram id beena_shah74

18 views0 comments

Recent Posts

See All

Ek sadak durghatna jo meine dekhi

एक सड़क दुर्घटना _ जो मैंने देखी कैसे करूं बयां जो मुझसे देखा भी नहीं जाता, एक ऐसा दृश्य जिसे देखकर हर कोई कांप जाता। वो कहते हैं ना दुर्घटना से देर भली, पर ये इंसान को कहां समझ में आता । जल्दी-जल्दी

Comments


bottom of page